फ्री डेमो
subscribe
Krishnacoming Helpline No.

हेल्पलाइन नंबर : +91 6262041984

कॉल / व्हाट्सएप

features img

संकल्प
गर्भ संस्कार का आरम्भ पूर्व लाइव संकल्प पूजन से

भारतीय सनातन वैदिकपद्धति में हर शुभ कार्य के पूर्व संकल्प लिया जाता है. संकल्प का उद्देश्य सभी देवी देवताओं सहित नवग्रह और नक्षत्रों से अपनी इस गर्भावस्था और गर्भस्थ शिशु के लिए आशीर्वाद प्राप्त करना होता है.
कृष्णा कमिंग गर्भ संस्कार को सबस्क्राइब करने के २४ घंटों के भीतर हमारे द्वारा आपके लाइव संकल्प पूजन से सम्बंधित ज़रूरी दिशानिर्देश जिसमें पूजा में लगने वाली सामग्री, मुहूर्त अनुसार उचित समय आदि दिए जाते हैं. यह लाइव संकल्प पूजन हमारे वेदिक ब्राहम्ण द्वारा पूर्ण कराया जाता है जिसमें पति और पत्नी दोनो का सम्मिलित होना अनिवार्य है, अगर शेष परिवारजन भी उपस्थित रहें तो श्रेष्ठ है.
संकल्प के बाद आप कृष्णा कमिंग कोर्स का ऐप के निर्देशानुसर पालन कर सकती हैं

गर्भ संस्कार सूत्र
शिशु में मनोवांछित गुणों के विकास हेतु महत्वपूर्ण सूत्र

९ माह कि गर्भावस्था में, प्रत्येक माह, शिशु के विभिन्न शारीरिक व मानसिक आयामों का चरणबद्ध विकास होता है।
कृष्णा कमिंग एक विशुद्ध विज्ञान है, जो गर्भस्थ शिशु के वर्तमान विकास चरण के अनुसार, गर्भ-संस्कार सूत्र प्रदान करता है। यह सूत्र आपकी गर्भावस्था को एक अद्भुत, आनंदमयी अनुभव में बदल देता है तथा आपको एक बुद्धिमान, संस्कारवान, स्वस्थ शिशु के स्वागत के लिए तैयार करता है

features img
features img

वैदिक मंत्र वृष्टि
उच्च कोटी विद्वानों द्वारा शिशु मेंविशिष्ठ गुणों के संवर्धन हेतु

वेदों में गर्भावस्था के लिए विशेष मंत्रों का उल्लेख है, जिनका दैनिक प्रभाव गर्भस्थ शिशु पर होता है। ऋग्वेद, सामवेद, यजुर्वेद व अथर्ववेद में वर्णित इन मंत्रों के शास्त्रवत् उच्चारण, आपके गर्भस्थ शिशु के लिए कृष्णा कमिंग ऐप्प में दिये गए है।
वेदों के इन विशिष्ठ मंत्रों को, संसार के सबसे उच्च कोटी के विद्वानों द्वारा, शास्त्रानुसार उच्चारित किया गया है। इन विद्वानों द्वारा वर्ण, स्वर, सम इत्यादि के कठिनतम नियमों का पालन किया जाता है। जिससे इन विद्वानों द्वारा किये गए मंत्र पाठ का अद्भुत व चमत्कारी प्रभाव शिशु व माँ के जीवन पर पढ़ता है।

गर्भ संस्कार संगीत
शिशु के उचित विकास हेतु विशिष्ट भारतीय रागों पर आधारित

भारतीय रागों का प्रभाव हमारे मनोभाव, मस्तिष्क व शरीर पर पड़ता है। इस तथ्य को, अब संसार के शीर्ष वैज्ञानिक व यूनिवर्सिटीज भी मानती है। पारंपरिक रागों के प्रयोगों से जन्म लेने वाले शिशु में, बुद्धि, स्वास्थ्य, स्वभाव में शांतता, जैसे कई गुणों का संवर्धन किया जा सकता है।
कृष्णा कमिंग ऐप में गर्भ-संस्कार संगीत को भारतीय रागों के आधार पर विकसित किया गया है, जो गर्भस्थ शिशु मे सद्गुणों का संवर्धन तो करता ही है, साथ ही गर्भवती महिला को भी शांत, तनावमुक्त व सकारात्मक बनाए रखता है।

features img
features img

जीवन सूत्र
जीवन के उतार चढ़ाव में आनंदित रहने के सूत्र

गर्भावस्था के दौरान माँ की मनोस्थिति का प्रभाव, होने वाले शिशु पर जीवन भर रहता है। गर्भवती महिला, दैनिक जीवन में आने वाले उतार-चढ़ाव, चिंता, तनाव, दुख आदि का सामना कर सके व अपने मन को स्थिर, शांत, सकारात्मक रख सके। इसलिए भारत के प्रख्यात लाइफ टड्ढेनर्स, जो अब तक हज़ारों जीवनों को प्रेरित कर चुके हैं.
इस सेशन मे लाइव अथवा वीडियो द्वारा भारत के सुप्रसिद्ध लाइफ़ ट्रेनर्स आपको मिलते है व जीवन की कठिन परिस्थितियों मे भी सकारात्मक व स्वयं के सर्वश्रेष्ठ रूप मे रहने के सरल सुत्र आपसे साझा करते है जो गर्भवती स्त्री को उत्तम माँ बनने मे सहायक सिद्ध होते हैं

मेडी-मित्र
सभी चिकित्सकीय समस्याओं के सटीक समाधान

प्रेग्नन्सी के दौरान, डाक्टर्स की भूमिका सिर्फ़ किसी मेडिकल एक्स्पर्ट तक सीमित ना रह कर, एक मित्र या घर के किसी बड़े सदस्य जैसी होना चाहिए । ऐसा कोई, जिससे आप अपनी सारी फज़िक़िल या मेंटल समस्याओं या प्रश्नों के स्नेहमयी किंतु सटीक समाधान प्राप्त कर सकें।
मेडी-मित्र सेक्शन में, डॉ निवालकर, किसी प्रॅगनेंट महिला के लिए बिल्कुल उसी भूमिका में होगी।
विश्व प्रसिद्ध AIIMS में कार्य का अनुभव तथा तथा २२ वर्षों का हाई रिस्क प्रेग्नन्सी का अनुभव लिए, डॉ. निवालकर, आपकी हर जिज्ञासा का समाधान करेंगी, जो किसी प्रेग्नेंट महिला के मन में आती है, पर शायद उन्हें उसके, उतने उचित समाधान नहीं मिल पाते।

features img
features img

इष्ट-मंत्र
माता पिता के लग्न की ज्योतिषिय गणना से निकाला गया निजी इष्ट मंत्र

कृष्णा कमिंग ऐप, होने वाले शिशु के माता व पिता दोनों के जन्म समय व दिनांक के आधार पर एक राशि-युग्म की गणना करता है। यह गणना, ज्योतिष विज्ञान पर आधारित होती है और प्रत्येक माता-पिता युगल के लिए एक विशिष्ठ व भिन्न इष्ट-मंत्र होता है। गर्भवती माता को यह निजी इष्ट मंत्र अपनी गर्भावस्था के दौरान १०८ बार प्रतिदिन जाप करना होता है. इसके जाप से होने वाले शिशु पर इष्ट देव की विशेष अनुकंपा होती है.
किसी कारणवश यदि गर्भवती महिला इष्ट मंत्र का जाप १०८ बार नहीं कर पाए एसी स्थिति में कम से कम ५१ या ११ बार तो जाप करना ही चाहिए.

गर्भ संवाद
नींव जीवनभर के सुंदर रिश्ते की

गर्भ संस्कार की सम्पूर्ण प्रक्रिया एक बहुत ही महत्वपूर्ण भाग है- संवाद. गर्भावस्था के प्रारम्भिक दौर में आपका शिशु आपके शब्द नहीं सुन सकता लेकिन आपकी भावनाओं की कोई अभी अनुभूति उस से छुपी नहीं है. प्राचीन भारतीय मनीषियों ने जिस संवाद को माँ और शिशु के सम्बन्धों की नींव बताया था आज उस संवाद को दुनिया भर के वैज्ञानिक अपनी रीसर्चेज़ के बाद एक स्वर से स्वीकार करते हैं.
शिशु के साथ इन संवाद सत्र के माध्यम से आप अपने दौडते भागते जीवन से थोडा समय निकालकर रखती हैं नींव जीवन भर के इस सुंदर रिश्ते की.

features img
features img

तनावमुक्ति योगनिद्रा सत्र
शारीरिक व मानसिक तनावमुक्ति हेतु

गर्भावस्था के दौरान आप यानि होने वाली माँ को शारीरिक बदलाव, गर्भ की चिंता, प्रसूति का डर आदि के साथ ही साथ शारीरिक व मानसिक व वैचारिक थकान का सामना करना पढ़ता है. शारीरिक व मानसिक थकान की इस अवस्था में गर्भसंस्कार प्रक्रियाओं का कई बार आप प्रभावी ढंग से पालन नहीं कर पातीं.
इसी समस्या को ध्यान में रखते हुए टीम कृष्णा कमिंग ने इन गाइडेड तनाव मुक्ति योगनिद्रा सत्र का निर्माण किया. मात्र २०-२५ मिनिट का सत्र आपको शांतता के अथाह समुद्र की यात्रा पर ले जाते हैं जहाँ आप अपने शांत स्वभाव को पुनः प्राप्त करती हैं.

पर्व निमित्त सत्र
महत्वपूर्ण पर्वों पर आधारित सत्र

गर्भ संस्कार केवल मंत्र और संगीत तक ही सीमित ना होकर एक जीवन शैली है. पर्व निमित्त सत्र मैं आपको मिलते हैं गर्भ संस्कार की दृष्टि से महत्वपूर्ण पर्वों के अनुसार किए जाने वाली महत्वपूर्ण प्रक्रियाएँ.
इनके अलावा कई ज़रूरी सत्र भी इसमें सम्मिलित हैं जिसमें संत चरित्र, महापुरुष चरित्र आदी पर आधारित व्याख्यान हैं जिनके द्वारा महापुरुषों और संतो के गुण शिशु के अवचेतन मे जागृत किए जाते हैं.

features img
features img

सुप्रज संतानोत्पत्ति हवन
संतान की सुरक्षा व स्वास्थ्य हेतु मासिक वैदिक हवन

गर्भावस्था के दौरान माह में एक बार, गर्भवती महिला व उनके पति और अगर सम्भव हो तो समस्त परिवारजन के साथ एक लाइव सुप्रज संतानोत्पत्ति हवन करते हैं, जिसे कृष्णा कमिंग के वैदिक ब्राह्मण द्वारा लाइव वैदिक पद्दती से पूर्ण कराया जाता है.
हवन का मुख्य उद्देश्य देवता व नवग्रहों से शिशु की रक्षा व गुण संवर्धन की प्रार्थना करना होता है. हवन का दिन, समय व आवश्यक सामग्री, सब्सक्राइबर्ज़ के साथ पहले से ही साझा कर ली जाती हैं.